महकते जज़्बात…(5)


Indian Bloggers

DSCF0482

इस  दिल  से  उठती  ख़ुश्बू  के  कुछ  और  कतरे  आपकी  नज़र  करता  हूँ…

भाग ५


वो   कहते   हैं   तू   ख़याल   है   बस ,

इस   पागल   दिल   का   फ़ितूर   है   तू ;

पर   ज़िंदा   हूँ   मैं…खुद   सुबूत   है   ये ,

के   शायद   कहीं   ज़रूर   है   तू ||

♥ ♥ ♥

तेरे   ख़यालों   में   ऐसा   डूबा,

जैसे   वर्षा   घनघोर   हुई ;

जाने   कब   बीती   रात ,

और   जाने   कब   भोर   हुई ||

♥ ♥ ♥

ख्वाबों   के   इस   वीराने   में ,  

 क्या   खूब   हरियाली   छाई   है ;

के   ढूंड   रहे   थे   हम   अल्फाज़ों   को ,  

और…खुद   ग़ज़ल   ही   चली   आई   है ||

♥ ♥ ♥

Love  is  in  the  air…Its  February…

Advertisements

3 thoughts on “महकते जज़्बात…(5)

  1. Pingback: Couplets: #AtoZChallenge – doc2poet

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s