Poetry & me (2)

Indian Bloggers

517a791cd33fe05acf460e6670276a0f
Image source

Elysian: beautiful, creative, divinely inspired…

Poetry  means  emotions; love, laughter  and  pain,

It  tends  to  my  wounds,  and  keeps  me  sane,

के लबों पर पिघलते गीतों को,   जैसे  साज़  मिल  जाते  हैं,

और  दिल  से  रिसते  जज़्बातों  को,  मीठे  अल्फ़ाज़  मिल  जाते  हैं,

These  words  extricates  my  soul,  and  quells  disdain,

I  am  a  scorching  desert  and  poetry  is  my  rain,

के  काव्य  करता  है  मुझे  रिहा, और   ख्वाबों  को  उड़ान  देता  है,

दिखाता  है  ये  इंद्रधनुष  और  उमंगों को  आसमान देता  है ,

रंगों  को  ज़ुबान  देता  है, हसरतों  को मुक़ाम देता  है ||

***

                                                                              -doc2poet

Sharing and learning new words takes us closer to other cultures and their literature. And it is just beautiful. Hope you feel the same too. 🙂

Here’s a little more about me and poetry. Follow the link and let it sink: 

https://doc2poet.wordpress.com/2016/02/14/poetry-me/?frame-nonce=f9701f9780 

Advertisements

36 thoughts on “Poetry & me (2)

    1. काव्य वो कोमल एहसास, छू जाए जो हर दिल को,
      हो सके न खुद से जुदा, कुछ इस तरह तुम में शामिल हो…

      Like

      1. कविता में होना चाहिए जोश
        समाज की बुराइयों के प्रति रोष
        सड़े हुए तंत्र के प्रति क्रोध
        सही गलत का बोध

        Liked by 1 person

      2. वीर रस है लाजवाब, पर काव्य फल में रस और भी हैं,
        एक रंग में वो बात कहां, जो स्वयं इन्द्रधनुष की है…

        Like

      3. आज के ऐसे है हालात
        मेरे देश का सैनिक खा रहा कायरों की लात
        मैं कैसे करूँ इंद्र धनुष की बात

        Liked by 1 person

      4. सीमाएं बातें नहीं खून माँगती हैं,
        सब कुछ कविताओं के जिम्मे नहीं,
        ये निर्भीक है पर अनभिज्ञ भी,
        ये सब कहां जानती हैं…

        Like

      5. खून बह गया शहीदों का, जाने न पाए यह कुर्बानी बेकार
        इस बार हो जाने दो रण आर पार
        उठा न पाए अब सिर कभी पाकिस्तान ,ऐसा करो प्रहार
        56″ के सीने वाले क्या खाली बातों में ही भरेंगे हुंकार

        Liked by 1 person

  1. Pingback: What can poetry do? – doc2poet

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s