माँ : #Mother’sDay


Top post on IndiBlogger, the biggest community of Indian Bloggers

Mothers never leave your side. If you can feel the warmth of their love, you are on the right path. Happy mothers day.

doc2poet

m
Top post on IndiBlogger, the biggest community of Indian Bloggers

PS: This one is the closest to my heart. If you have ever liked any of my poem, you will love this one. And if you are here for the first time, the archive is on the right…

M                   अपने आँसुओं को जग की आँखों से छुपाकर पी जाना मैने बहुत पहले ही सीख लिया था | लेकिन कुछ बातें कभी नहीं छुपाई जा सकती | मेरे जीवन का सबसे दुखद लम्हा वह था जब उनका साया मेरे सर से रूठ गया | आज भी रह-रह कर वही पल अक्सर मेरी कविताओं में लौट आता है…

के  जितना था मुझसे दुलार,

करती थी जितना मुझसे प्यार;

मुझे एक बार और बाहों में भरने को,

वो  दरिया-ए-आग  मे  भी  उतरती;

होता  गर  बस  मे  उसके,

तो  चन्द  साँसें  और  ज़रूर  भरती;

अपने  लिए  न  सही,

मेरे  लिए  तो  ज़रूर  करती |

वो …

View original post 143 more words

Advertisements

11 thoughts on “माँ : #Mother’sDay

  1. Wow… होता गर बस मे उसके,

    तो चन्द साँसें और ज़रूर भरती;

    अपने लिए न सही,

    मेरे लिए तो ज़रूर करती |

    So true, as a mother I can relate to this. We can go to any lengths to make sure our kids are happy!!

    Liked by 1 person

  2. अद्भुत रचना…………

    मेरी आंसुओं को
    आंचल में पिरोती है
    माँ संसार मे
    सबसे अनमोल होती है
    इस माँ के लिए सिर्फ एक दिन???
    मैं किन शब्दों में बयान करूँ
    माँ – क्या होती है????

    “जिसके जीवन माँ नहीं उस से पूछो माँ – क्या होती है”

    Liked by 2 people

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s